जीत तो गए विराट लेकिन धोनी से डर भी गए थे, मैच के बाद किया यूं खुलासा

0
13

बेंगलुरू: इंडियन प्रीमियर लीग में विराट कोहली और धोनी की टीम का मैच हो और नतीजा एक रन से आए तो इससे रोमांचक मैच और क्या होगा. बेंगलुरू और चेन्नई के बीच रविवार को हुए मैच में यही हुआ. विराट की टीम आखिरी गेंद से पहले हार की कगार पर आ गई थी. अनहोनी को होनी करने की एमएस धोनी की कला से वाकिफ विराट कोहली ने स्वीकार किया कि मैच में उनकी बल्लेबाजी देखकर तो वह ‘डर’ ही गए थे.

बेंगलुरू के गेंदबाजों की वापसी को धोनी ने किया बेकार
इस मैच में जब बेंगलुरू ने चेन्नई को 162 रनों का लक्ष्य दिया तो तब लग रहा था कि धोनी अपने धुरंधरों के साथ यह लक्ष्य हासिल कर लेंगे. लेकिन इस बार बेंगलुरू के गेंदबाजों ने शानदार गेंदबाजी की और अपनी टीम को मैच में जल्द ही वापस ला दिया. पहले छह ओवरों में केवल 32 के स्कोर पर चार विकेट गिरने के बाद धोनी ने 48 गेंद में नाबाद 84 रनों की पारी खेल कर मैच में शानदार वापसी की. 

विराट ने माना, लगा नहीं था कि हम जीतेंगे
चेन्नई को आखिरी ओवर में 26 रन चाहिए थे और धोनी ने टीम को जीत तक पहुंचा ही दिया था लेकिन आखिरी गेंद पर रन आउट होने से टीम एक रन से हार गई.कोहली ने मैच के बाद कहा, ‘‘इतने कम अंतर से मैच जीतकर अच्छा लग रहा है. हम मामूली अंतर से हारे भी है. एमएस ने वही किया जिसमें वह माहिर है. हम सभी को डरा दिया था. आखिरी गेंद तक मुझे लगा नहीं था कि हम जीतेंगे. इतने जज्बात उमड़ रहे थे.’’ 

नवदीप सैनी की तारीफ भी की कोहली ने
विराट ने युवा नवदीप सैनी की भी तारीफ की जो वनडे विश्व कप के लिये पांच स्टैंडबाय में से है. उन्होंने कहा, ‘‘चेन्नई जैसी टीम के खिलाफ उसने उम्दा प्रदर्शन किया. हमने 19वें ओवर तक अच्छी गेंदबाजी की थी. सैनी का यह पहला सत्र है और उसका प्रदर्शन काबिले तारीफ है.’’ सैनी ने इस मैच में चार ओवर में 24 रन देकर एक विकेट लिया. उन्होंने 17वें ओवर में 8 और 19वें ओवर में केवल 10 रन दिए जिससे आखिरी ओवर में चेन्नई को जीत के लिए 26 रनों की जरूरत थी. पर धोनी ने कहानी बदल दी. 

अभी भी प्लेआफ की आरसीबी की राह आसान नहीं है. उसे चारों मैच जीतने के अलावा बाकी मैचों में भी सकारात्मक नतीजों की उम्मीद करनी होगी. वहीं चेन्नई का भी प्लेऑफ स्थान पक्का नहीं हुआ है.