कोलंबो में हुआ 8वां बम धमाका, अब तक गईं 162 जानें, पूरे देश में कर्फ्यू

0
12

श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में रविवार दोपहर को 8वां बम धमाका हुआ है. कोलंबो में दोपहर में 7वां और 8वां बम धमाका कुछ ही अंतराल में हुआ है. 7वें धमाके में 2 लोगों की मौत हुई है. अभी 8वें बम धमाके में हुए नुकसान की जानकारी सामने नहीं आई है. इन बम धमाकों के बाद श्रीलंकाई सरकार ने रविवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक देश में कर्फ्यू घोषित किया है. साथ ही पूरे देश में सुरक्षा के मद्देनजर फेसबुक और व्‍हाट्सएप समेत पूरे सोशल मीडिया के इस्‍तेमाल पर बैन लगा दिया है.

अब तक 162 लोगों की जानें इन बम धमाकों में जा चुकी हैं. इनमें 35 विदेशी भी शामिल हैं. साथ ही 500 से अधिक लोगों के घायल होने की खबर है. ये धमाके ईसाइयों के त्‍योहार ईस्‍टर के दौरान किए गए हैं. श्रीलंका की पुलिस इस समय अलर्ट पर है. साथ ही सेना को भी तैनात किया गया है. इससे पहले रविवार सुबह कोलंबो के चर्च और पांच सितारा होटलों में हुए 6 सीरियल बम ब्‍लास्‍ट में करीब 160 मौतें हो चुकी थीं. 
श्रीलंका में रविवार को हुए सिलसिलेवार बम विस्फोटों से 10 दिन पहले देश के पुलिस प्रमुख ने चेतावनी जारी करके कहा था कि आत्मघाती हमलावर ‘अहम गिरजाघरों’ को निशाना बना सकते हैं. पुलिस प्रमुख पी. जयसुंदरा ने 11 अप्रैल को एक गुप्तचर चेतावनी शीर्ष अधिकारियों को भेजी थी. सोशल मीडिया पर बम धमाकों के कुछ वीडियो भी सामने आए हैं. इनमें देखा जा सकता है कि धमाके के बाद एक चर्च की छत ही उड़ गई. साथ ही चर्च की दीवारें भी क्षतिग्रस्‍त हुई हैं. लोगों में चीख पुकार मची थी. हालांकि ज़ी न्‍यूज इन वीडियो की पुष्टि नहीं करता है.
बता दें कि ईस्टर (Easter 2019) के मौके पर रविवार को श्रीलंका (Sri Lanka) में सीरियल धमाके (Serial blasts) हुए हैं. श्रीलंका पुलिस को इससे पहले छह जगहों पर धमाके की सूचना मिली थी. छह बम धमाकों में से 3 कोलंबो के चर्च और 3 धमाके होटलों में हुए. इन 6 धमाकों में 160 लोगों की मौत हुई थी. 
बताया जा रहा है कि कोलंबो (Colombo) में 40, निगोंबो (Negombo) में 62 और बाटिकालो (Baticaloa) में 27 लोगों की जान गई है. पुलिस का मानना है कि घायलों की संख्या बढ़ सकती हैं. ये धमाके उस वक्त हुए जब चर्च में ईस्टर के मौके पर प्रार्थना सभा चल रही थी.
धमाके के बाद पूरे शहर में अफरातफरी का माहौल बना हुआ है. एंबुलेंस की मदद से घायलों को अस्पताल पहुंचाया जा रहा है. स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए भारी संख्या में सुरक्षाबल सड़कों और घटनास्थल पर पहुंच गए हैं.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी श्रीलंका में हुए सीरियल धमाकों पर शोक व्‍यक्‍त किया है. पीएम मोदी ने कहा है कि भारत इस दुख की घड़ी में श्रीलंका की जनता के साथ है. इस समय श्रीलंका की जितनी भी मदद संभव हो पाएगी, भारत करेगा.