प्रियंका गांधी ने चंद्रशेखर से मिलकर खेला सियासी दांव, माया-अखिलेश की हुई मुलाकात

0
9

नई दिल्ली: चुनाव की तारीखों की घोषणा के बाद यूपी की सियासत में हलचल शुरू हो गई है. बुधवार (13 मार्च) को शाम होते-होते प्रियंका गांधी मेरठ जा पहुंची और भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर से मुलाकात कर दूसरी राजनीतिक पार्टियों को सकते मे डाल दिया. इस मुलाकात के थोड़ी देर बाद ही सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बसपा सुप्रीमो मायावती से मुलाकात की. जानकारी के मुताबिक, मेरठ में प्रियंका और चंद्रशेखर की मुलाकात के खबरों के बाद यूपी में सियासी हलचल शुरू हुई और अखिलेश यादव बिना किसी पूर्व कार्यक्रम के सीधे मायावती से मिलने लखनऊ में उनके निवास माल एवेन्यू जा पहुंचे. प्रियंका और चंद्रशेखर की मुलाकात के बाद ये कयास लगाए जा रहे हैं कि मायावती अब अमेठी और रायबरेली पर कुछ फैसला ले सकती हैं.

दरउसल, मेरठ में प्रियंका गांधी के भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद से मुलाकात करने उस्पताल पहुंची. इस मुलाकात के बीच मायावती और अखिलेश यादव की बैठक बहुत ही महत्वपूर्ण मानी जा रही है. क्योंकि बसपा ये कह चुकी है वो किसी भी राज्य में कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं करेगी. 
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने ट्विटर अकाउंट पर अपना और मायावती का फोटो शेयर किया है, जिसका कैप्शन उन्होंने लिखा है आज एक मुलाक़ात ‘महापरिवर्तन’ के लिए… इस ट्वीट के बाद ये कयास और तेज हो गए हैं कि सपा-बसपा गठबंधन जल्द ही कोई बड़ा फैसला ले सकता है. 
अखिलेश और मायावती के मुलाकात के बाद सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने बताया कि यह मुलाकात आगामी लोकसभा चुनाव के लिए होने वाली रैलियों, सभाओं और बैठकों के सिलसिले में थी. उन्होंने बताया कि चुनाव करीब आ रहे हैं. होली के बाद चुनाव प्रचार की पूर्णतया शुरूआत कर दी जाएगी. उन्होंने कहा कि गठबंधन ने उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के लिए दो सीटें छोड़ी हैं और ईमानदारी से पूरा समर्थन किया जाएगा. 

वहीं, सपा के एक अन्य वरिष्ठ नेता ने कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका की भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर के साथ मुलाकात बसपा सुप्रीमो मायावती के फैसले की प्रतिक्रिया है. उन्होंने कहा कि मायावती ने कांग्रेस के साथ गठबंधन की किसी संभावना से इंकार कर दिया है और मायावती किसी दबाव में नहीं आने वाली हैं. यह गठबंधन दबाव में नहीं आएगा.
 

LEAVE A REPLY