जिम संचालक का करना चाहते थे अपहरण, मौका नहीं मिला तो चलाई थी गोली 

0
9

जबलपुर। ओमती थाना क्षेत्र के सिविक सेंटर स्थित एशियाज जिम के संचालक पर दिनदहाड़े गोली चालाने वाले मुख्य आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस को आरोपी ने बताया है कि वह जिम संचालक का अपहरण करना चाहता था। इसलिए उसने जिम संचालक को दो बार कार में बैठने के लिए कहा था, लेकिन वह नहीं बैठा। इसलिए गोली चला दी। मुख्य आरोपी की निशानदेही पर एक अन्य आरोपी को भी गिरफ्तार किया गया है। वहीं घटना में की योजना बनाने वाले दो अन्य आरोपी फरार हैं, जिनकी पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है।  
ओमती थाना प्रभारी नीरज वर्मा ने बताया कि २७ फरवरी को ओमती थाना क्षेत्र स्थित एशियाज जिम के संचालक अमित भसीन पर गोलू उर्फ अब्दुल खालिद ने प्रभू वंदना टॉकीज की पार्किंग में दिन दहाड़े पिस्टल से ०६ राऊंड फायर कर जान से मारने की कोशिश की थी। घटना के दौरान ३ गोलियां अमित भसीन को लगी थीं। अमित भसीन को तत्काल उपचार के लिए जबलपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसी दौरान आरोपी गोलू फरार हो गया था।
सीसीटीव्ही से हुई थी पहचान…………
घटना की जानकारी लगते ही पुलिस अधीक्षक अमित सिंह दल-बल सहित मौके पर पहुंच गए थे। इसके बाद आरोपी गोल उर्फ अब्दुल खालिद की पहचान सीसीटीव्ही से हुई। बाद में अमित भसीन के बयान ने इसकी पुष्टि की। घटना के बाद से ही पुलिस आरोपी की तलाश कर रही थी। पुलिस अधीक्षक अमित सिंह ने आरोपी पर १० हजार रुपए का ईनाम भी रखा था। 
ऐसे हुई गिरफ्तारी………….
पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि गोलू उर्फ अब्दुल खालिद ने घटना में उपयोग की गई पिस्टल शोभापुर रेल्वे ट्रेक के पास छिपाई है, जिसे वह लेने जाने वाला है। सूचना पर थाना ओमती पुलिस एवं क्राईम ब्रांच, की टीम ने शोभापुर रेल्वे ट्रैक के पास घेराबंदी की। बुधवार सुबह ४ बजे गोलू शोभापुर रेल्वे फाटक के पास पहुंचा, जो पुलिस को देखकर भागने लगा, जिसे घेराबंदी कर पकड़ा गया। पूछताछ कर घटना में प्रयुक्त पिस्टल भी जब्त की गई।
रंजिश के कारण घटना………….. 
गोलू ने पूछताछ में बताया कि अमित भसीन ने जब अपना नया जिम २०११ में खोला था तो मोह. राशिद ने मेहनत करके अमित भसीन के जिम को स्टैब्लिश किया, लेकिन अचानक २०१५ में अमित भसीन ने राशिद को बिना कारण के जिम से निकाल दिया। राशिद ने गोलू को भी अमित भसीन के जिम पर ट्रेनर के रूप में काम पर लगवाया था, लेकिन अमित भसीन ने उसे भी बिना कारण के काम से निकाल दिया। जिससे वह अमित भसीन से रंजिश रखता था।
ऐसे बनाई योजना………….
गोलू ने बताया कि वह पैसें की तंगी से जूझ रहा था। उसने राशिद से कहा कि किसी बड़े आदमी का अपहरण कर लेते हैं तो राशिद ने कहा कि किसी और का क्यों सोच रहे हो, अमित भसीन को ही टारगेट करो। मालदार आदमी है, अच्छा पैसा देगा। राशिद की बात मानकर गोलू ने अमित भसीन के अपहरण की योजना बनाई। अमित भसीन जब प्रभुवंदना टाकीज की पार्किंग मे अपनी कार पार्क कर उतरा तो गोलू बात करने का कहते हुये अमित भसीन को कार में बैठने के लिए कहने लगा। भसीन ने कार मे बैठने से मना करते हुये कहा कि यहीं बात कर लेते हैं, क्या बात है, बताओ। गोलू ने फिर कार में बैठने के लिए कहा, लेकिन भसीन ने मना करते हुए गोलू को जाने के लिए कहा। इसके बाद गोलू ने पिस्टल निकालकर दनादन ६ फायर कर दिए।
राशिद को भी किया गिरफ्तार………..
गोलू को अपहरण के लिए प्रेरित करने वाले मोह. राशिद को भी गिरफ्तार किया गया है। अन्य दो आरोपी जिन्होंने घटना की योजना बनाने में तथा घटना को अंजाम देने में गोलू उर्फ खालिद की मदद की थी। जिनकी पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है।
इनकी रही सराहनीय भूमिका…………
आरोपी गोलू और राशिद को गिरफ्तार करने में ओमती थाना प्रभारी नीरज वर्मा, उप निरीक्षक राकेश बघेल, प्रधान आरक्षक अमर सिंह, आरक्षक दीपक विश्वकर्मा, राजेन्द्र सिलावट, क्राईम ब्रांच मे सउनि रामस्नेही गुड्डू, आरक्षक अनिल, अजीत, राधेश्याम तथा  सायबर सेल के आरक्षक नितिन जोशी, आदित्य कुमार, वंदित राजपूत, दुर्गेश दुबे, चंद्रिका प्रसाद की सराहनीय भूमिका रही। एसपी अमित सिंह ने टीम को नगद पुरस्कर देने की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY