कोई भी गरीब रोगी धन के अभाव में इलाज से नहीं होगा वंचितः मुख्यमंत्री

0
8

राजकोट | मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि राज्य सरकार ने यह चिंता की है कि धन के अभाव में कोई भी गरीब रोगी स्वास्थ्य सुविधाओं से वंचित न रहे। लोगों के टैक्स की रकम का सदुपयोग हो ऐसी व्यवस्था विकसित की है। रोगियों को दवा, युवाओं को शिक्षा व रोजगार तथा किसानों को सिंचाई की सुविधा प्राथमिकता के स्तर पर दी गई है। रविवार को राजकोट में आयुष्मान भारत योजना के तहत राज्य के पहले मेगा कैंप का शुभारंभ करते हुए उन्होंने यह बात कही। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार द्वारा लागू की गई विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत के अंतर्गत राजकोट शहर के 96000 परिवारों के करीब पांच लाख लोगों को स्वास्थ्य कवच मुहैया कराने के लिए राजकोट महानगरपालिका द्वारा आयोजित मेगा कैंप को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इससे राजकोट में स्वास्थ्य सुरक्षा का नया सूर्योदय हुआ है। 
विजय रूपाणी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 54 महीने के अपने शासनकाल में जनकल्याण के अनेक कार्य किए हैं। उसमें आयुष्मान भारत योजना गरीबों के लिए आशीर्वाद समान है। इस योजना का लाभ देश के 10.74 करोड़ परिवारों के 50 करोड़ से अधिक लोगों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि गरीब एवं मध्यम वर्ग परिवार के किसी एक सदस्य के बीमार होने पर घर के सभी लोग लाचारी का अनुभव करते हैं। उपचार के लिए आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिए किसी के सामने हाथ फैलाना पड़ता है। बीमारी के गंभीर होने की स्थिति में परिवार कर्ज में डूब जाता है। यदि घर का मुखिया ही बीमार पड़ जाए तब हालात और भी जटिल हो जाते हैं। ऐसे समय मुख्यमंत्री अमृतम (मा) योजना और मा वात्सल्य योजना इन परिवारों के लिए आशीर्वाद समान बनती हैं। गंभीर बीमारी की स्थिति में अच्छे से अच्छे अस्पताल में कैशलेस उपचार मिलता है। राज्य सरकार द्वारा इसके लिए 1000 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। अब तो आयुष्मान भारत योजना के तहत राजकोट के 25 सहित राज्य के 2600 अस्पतालों में पांच लाख रुपए तक का उपचार मिलेगा। यह तय है कि इस योजना से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को देश के नागरिकों का आशीर्वाद जरूर मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों का जीवन स्तर सुधारने के लिए राज्य सरकार ने अनेक कल्याणकारी योजनाएं लागू की हैं। उन्होंने कहा कि गरीब अपना जीवन बेहतर तरीके से जी सके यही राज्य सरकार का लक्ष्य है। गरीबों की परवाह करने वाली राज्य सरकार की मंशा है कि राज्य के नागरिक स्वस्थ जीवन व्यतीत करे। कैंप में लाभार्थियों को स्वास्थ्य सेवा के कार्ड वितरीत किए और तुरंत कैंप का जायजा लेने पहुंचे। वहां उन्होंने लाभार्थियों से मुलाकात कर उनके साथ बातचीत भी की। मुख्यमंत्री को आते देख लाभार्थियों के चेहरे पर मुस्कान दौड़ गई। 

LEAVE A REPLY